उमा भारती ने कहा कि जिन्होंने गंगा के विषय पर कभी सोचा और किया नहीं वो केंद्र सरकार की इस जन कल्याण की योजना के विषय में बात कर रहे हैं..
कानपुर. गंगा की सफाई और अविरलता के लिहाज से शुरूकिये गये नमामि गंगे योजना के विषय में विपक्ष द्वारा किये जा रहे आरोपो का जवाब देते हुए कानपुर के गंगा बैराज में आयोजित समारोह में केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने विपक्षियों को न्शाने में लेते हुए जमकर लताड़ लगायी। उमा भारती ने कहा कि जिन्होने गंगा के विषय पर कभी सोचा और किया नहीं वो आज सरकार की इस जन कल्याण की योजना के विषय में बात कर रहे है। हलांकि उमा भारती ने कहा कि नमामि गंगे योजना से गंगा के किनारे बसे लोगो को सबसे ज्यादा लाभ मिलेगा।

कानपुर में नमामि गंगे योजना के शुभारंभ के अवसर पर शहर के सांसद ड़ा मुरली मनोहर जोशी और अकबर पुर के सांसद देवेन्द्र सिंह भोले के साथ पार्टी के हजारो की संख्या में कार्यकर्ताओं के साथ शहर के महापौर कैप्टन जगत वीर सिंह द्रोणं मोजूद रहे। इस अवसर पर भाजपा की फायरब्राण्ड लीडर और केन्द्रीय मंत्री ने मंज से प्रदेश की राजनीतिक पार्टियो को आइना दिखाते हुए कहा कि किसी भी दल ने गंगा की अविरलता और सफाई के लिए कभी इस बारे में सोचने की दहमत नहीं उठाई और ऐसे लोगो को इस योजना पर टिप्पठी करने से पहले सोचने की आवशकता है। उमा भारती ने कहा कि गंगा की अविरलता को बरकरार रखने के लिहाज से शुरू की गयी इस योजना के दूर गामी परिणाम होने वाले है। गंगा लोगो की आस्था से जुड़ा एक प्रश्न होने के साथ साथ उत्तर बारत की लाइफ लाइन की तरह है और इसको गंदा करने से लोगो की जीवन पर इसका प्रतिकूल असर पड़ता है।

उमा भारती ने कहा कि गंगा की सफाई के उद्देश्य से कई योजनाओ को शुरू करने का काम किया गया लेकिन कभी भी इस काम की मानीटरिंग नहीं की गयी। यही कारण है कि हजारो करोड़ रुपये से शुरू किये गये गंगा एक्सन प्लान को अधिकारियो और लोगो ने लूट के लिए ही इस्तमाल किया है। उन्होने लोगो को आगाह किया कि इस तरह की व्यवस्था इस योजना के लिए नहीं होने दी जाएगी। साथ ही उनका कहना है कि नमामि गंगे योजना पूरी तरह से पारदर्शिता पर आधारित है और इसमे किसी भी तरह की गडबड़ी को बर्दाशत नहीं किया जाएगा। हलांकि उमा भारती प्रधान मंत्री मोदी की गंगा के सफाई और अविरलता के प्रति निष्ठा और वचनबद्धता पर भी जमकर बोली।

इस मोके पर शहर के सांसद डा मुरली मनोहर जोशी ने कहा कि इस योजना से दूरगामी परिणाम मिलने वाले है और इसका सबसे ज्यादा फायदा गंगा के किनारे बसे लोगो को होगा साथ ही क्षेत्र का व्यपार भी बड़ेगा।

1177 COMMENTS


    Fatal error: Allowed memory size of 94371840 bytes exhausted (tried to allocate 1921024 bytes) in /home/hinduism/hinduismnow.org/wp-includes/comment-template.php on line 2099