चंडीगढ़,  (रवि पाल): साऊथ में पंचकर्मा ट्रीटमैंट काफी पॉपुलर है व कुछ साल  से चंडीगढ़ के लोगों में भी इसके प्रति काफी क्रेज देखा जा रहा है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि शहर के इकलौते गवर्नमैंट पंचकर्मा सैंटर में हर माह 150 से ज्यादा लोग वेटिंग लिस्ट में चल रहे हैं।

लोगों की आयुर्वेद के प्रति बढ़ रही रुचि के मद्देनजर प्रशासन मनीमाजरा में जल्द आयुर्वेद व होम्योपैथी कालेज व अस्पताल बनाने जा रहा है। इसके लिए मनीमाजरा में जमीन निर्धारित की गई है, अस्पताल व कालेज का प्रोजैक्ट 10 करोड़ का है।

सैंटर डायरैक्टर डा. राजीव कपीला ने बताया जोड़ों के दर्द, अधरंग, सर्वाइकल और कमर दर्द की प्रॉबल्म के मरीज उनके पास ज्यादा आ रहे हैं। पंचकर्मा महंगा प्रोसैस है लेकिन सैक्टर-28 की डिस्पैंसरी मे यह ट्रीटमैंट बिल्कुल मुफ्त किया जाता है।

मरीज को यहां 3 सिटिंग दी जाती है जिसके लिए उसे 250 रुपए तक का समान लाना होता है। पंचकर्मा से शरीर के कई रोग दूर होते हैं लेकिन डाक्टर्स की मानें तो 10 वर्ष से कम आयु के बच्चों और बुजुर्गों को पंचकर्मा नहीं करवाना चाहिए।

महिलाएं ज्यादा करवा रही हैं पंचकर्मा

ट्राईसिटी में पंचकर्मा करवाने वालों में 60 प्रतिशत महिलाएं व 40 प्रतिशत पुरुषों होते हैं। वहीं 40 प्रतिशत मरीज सर्वाइकल या तनाव से गैस्ट होते हैं। डाक्टर कपिला के अनुसार पंचकर्मा केरल में काफी लोकप्रिय है जिसे भारत ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी लोग करवाते हैं।

केरल में तो पंचकर्मा के लिए बाकायदा मरीज को हफ्ते से एक माह तक के लिए एडमिट कर लिया जाता है लेकिन चंडीगढ़ में अभी ऐसी सुविधा नहीं है जहां मरीज को एडमिट कर सम्पूर्ण पंचकर्मा विधि से इलाज दिया जा सके।

वहीं पंचकर्मा के प्रति लोगों के बढ़ते रुझान के मद्देनजर सैंटर में बैड और स्टाफ बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। फिलहाल सैक्टर-28 में चल रहे पंचकर्मा सैंटर में सिर्फ दो ही लोगों का स्टाफ है।

10 करोड़ रुपए का है प्रोजेक्ट

मनीमाजरा में अगले साल तक आयुर्वेदिक एंड होम्योपैथिक कालेज एंड हॉस्पिटल खोलने पर काम जारी है। डा. कपिला ने बताया कि 10 करोड़ के इस प्रोजैक्ट के लिए 6 एकड़ जमीन की बात चंडीगढ़ एडमिनिस्ट्रेशन से चल रही है जो अंतिम चरण में है।

अगले 4 माह में चंडीगढ़ सैक्टर-34 की डिस्पैंसरी में होम्योपैथिक हॉस्पिटल खोला जा रहा है। 25 बैड के इस हॉस्पिटल में आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक एंड  नेचयुरोथैरेपी ओ.पी.डी. होगी। डा. कपिला ने बताया कि एडिशनल सैटअप के इस प्रोजैक्ट पर 2 करोड़ का खर्च आएगा।

LEAVE A REPLY